देवेन्द्र फडणवीस ने किया खुलासा – फ्लिप्कार्ट के माध्यम से आये थे औरंगाबाद हिंसा में इस्तमाल हुए हथियार।

0
113
Devendra Fadnavis

हाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने खुलासा किया है कि 11 मई को औरंगाबाद हिंसा में इस्तेमाल किए गए हथियार ई-रिटेलर फ्लिपकार्ट के माध्यम से खरीदे गए थे। फडणवीस ने आगे कहा कि उन कंपनियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है जहां से हथियार खरीदे गए थे।

औरंगाबाद हिंसा

औरंगाबाद के कई इलाको में 11 मई को साम्प्रदायिक हिंसा भड़कने से दो लोगो की मौत हो गयी थी और 40 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। 6 FIR दर्ज हुए थे और कुछ लोगो को हिरासत में भी लिया गया था । हिंसा भड़कने के तुरंत बाद ही कुछ दिनों के लिए वहां की इन्टरनेट सेवा बंद कर दी गयी थी ।

 राज्य रिज़र्व पुलिस और दंगा नियंत्रण बल सहित सात अन्य पुलिस सहयोगी बलो की नियुक्ति मौके पर की गयी थी । जिल्हा प्रशासन ने लोगो की जमघट पर प्रतिबन्ध लगाते हुए धारा 144 लागु करने के आदेश दिए थे ।

मोती करंज छेत्र से सुरु हुई हिंसा गाँधी नगर, राजा बाज़ार, शाह गंज और शराफा इलाको में फ़ैल गयी थी जिसकी वजह से पुलिस दल ने हवे में फायरिंग करते हुए आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े थे जिनमे कई घायल हुए । घायल लोगो में लगभग एक दर्जन पुलिस कर्मी और सात महिलाएं थी। इतना ही नहीं, हिंसक भीड़ ने 40 दुकानों और लगभग 50 गाडियों में आग भी लगा दी।

Devendra Fadnavis 1

ये भी पढ़े: कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने सांसदों को दिया महंगा तोहफा, बीजेपी ने किया दावा

इन सारे मामले में सफाई देते हुए महाराष्ट्र के गृह राज्य मंत्री ने कहा की ये सारे अफवाह सोशल मीडिया के द्वारा फैलाये गए जिससे लोगो में ग़लतफ़हमी फैली । जानबूझ के इस मामले को साप्रदायिक रंग दिया गया ।

वहीँ औरंगाबाद के एक शिव सेना के वरिष्ट नेता पर आरोप लगाते हुए AIMIM पार्टी के विधायक इम्तिआज़ जलील ने अपने बयान में कहा था की जो आरोप उनकी पार्टी (AIMIM) पर लगाये जा रहे है आरोप बे बुनियाद है और 2019 में हमारी पार्टी आप के पीछे पूरी ताकत के साथ लगेंगे और आपको यानि शिव सेना को अदालत के काफी चक्कर लगाने पड़ेंगे क्यूंकि जो नौ मिनट का विडियो सामने आया है उसमे शिव सेना के एक वरिष्ट नेता साफ़ तौर पर दिखाई दे रहे है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here